शुक्रवार, मई 7, 2021

चाँद के जैसा रूप खिला मेरे जोतराम का – मुकेश शर्मा

रूप निराला कटरा चाला, तेरी शान का,
चाँद के जैसा रूप खिला मेरे जोतराम का,


चम चम चम चमके लागे,
रूप कसुता मन भावे,
बंदड़ा जैसा रूप सजा से,
नज़र आज ना लग जावे,
हाथ में सोटी सिर पे पगड़ी,
क्या कहना शान का,


यो साचा दातार से माया घणी अपार से,
इनकी रहमत से चलता भाई मेरे परिवार से,
दुनिया ने रुका रोला से सचे धाम का,


अलबेलो दरबार आपको,
आज सजो से न्यारो रे,
भोले भाले भगता ने,
तू लागे जी ते प्यारो से,


हारे का तू साथी पूरा भर रहा ज्ञान का,

दिनेश यादव शाम सवेरे खोया से प्रचार में,
मुकेश शर्मा गाना गाइए जोतराम दरबार में,
हयातपुरिया बना पुजारी तेरे नाम का,
चाँद के जैसा रूप खिला……….


भजन – चाँद के जैसा रूप खिला मेरे जोतराम का
गायक – मुकेश शर्मा
श्रेंणी – जोतराम भजन
डाउनलोड ऑडियो भजन
डाउनलोड भजन लिरिक्स

भगतो अभी SINGLE डाउनलोड लिंक Update नहीं किया गया है, अभी हम सभी भजनो के बोल update कर रहे है,

Leave a Reply